बीते 24 घंटे में 3016 केस, 14 मौतें; 1 अक्टूबर को आए थे 3375 मामले | Coronavirus Outbreak Update 23 March Update; New Cases, Deaths Trends

[ad_1]

नई दिल्ली6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 3016 केस मिले हैं। यह आंकड़ा 1 अक्टूबर के बाद सबसे ज्यादा है। 1 अक्टूबर को 3,375 केस सामने आए थे। 6 महीने के बाद बुधवार 29 मार्च को कोरोना केस फिर 3 हजार से ज्यादा हुए हैं।

बुधवार को 1,396 कोरोना मरीज ठीक हुए, जबकि 14 संक्रमितों की मौत हो गई। देश में फिलहाल कोरोना के 12,589 एक्टिस केस हैं। डेली पॉजिटिविटी रेट 2.73% रहा। मंगलवार को पॉजिटिविटी रेट 1.51% था। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, बुधवार को 15,784 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई।

देश के डेली केस में 70% हिस्सेदारी 5 राज्यों की
केरल, महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश में बुधवार को देश के कुल नए केस के 70% केस आए हैं। केरल में 686, महाराष्ट्र में 483, गुजरात में 401, दिल्ली में 300 और हिमाचल में 255 नए केस मिले हैं। महाराष्ट्र में 3 लोगों की मौत हुई। दिल्ली में 2, जबकि हिमाचल प्रदेश में 1 व्यक्ति की मौत हुई। केरल और गुजरात में बुधवार को किसी की मौत नहीं हुई।

दिल्ली स्वास्थ्य मंत्री अस्पतालों के साथ करेंगे बैठक
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने गुरुवार को अधिकारी और स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की इमरजेंसी मीटिंग बुलवाई है। इसमें कई अस्पतालों के स्पेशल सेक्रेटरी, हेल्थ डिपार्टमेंट, डायरेक्टर ऑफ जनरल हेल्थ सर्विस, नोडल ऑफिसर फॉर ऑक्सीजन एंड टेस्टिंग और मेडिकल डायरेक्टर्स मौजूद रहेंगे।

एक्सपर्ट बोले- घबराएं नहीं, कोविड नॉर्म्स काे फॉलो करें
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने देशभर में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर पिछले हफ्ते रिवाइज गाइडलाइन जारी की थी। गाइडलाइन के मुताबिक, एंटीबायोटिक्स का तब तक इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए, जब तक बैक्टीरियल इंफेक्शन का संदेह न हो। इस बात की संभावना रखनी चाहिए कि कोरोना की बजाय अन्य मौसमी बुखार भी हो सकते हैं।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि कोविड के बढ़ते मामलों के पीछे नया XBB.1.16 वैरिएंट हो सकता है, लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है। एक्सपर्ट के मुताबिक, कोविड से जुड़े सारे प्रोटोकॉल का पालन करें। अगर किसी ने बूस्टर डोज नहीं लिया है तो उसे जल्द से जल्द ये डोज लेनी चाहिए।

इससे पहले दिल्ली AIIMS के पूर्व निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा था कि कोरोना और H3N2 केसेस बढ़ने के पीछे एक वजह मौसम बदलना भी हो सकता है। उन्होंने बताया कि हर साल इन्फ्लुएंजा के केस बढ़ते हैं, घबराने की कोई बात नहीं है। मास्क लगाकर रखें, खांसते समय मुंह को ढंक लें और सैनिटाइजर साथ रखें।

यह भी पढ़ें…

एक हफ्ते में कोरोना केस 63% बढ़े:67 दिन बाद एक्टिव केस 3000 के पार, केरल में सबसे ज्यादा; क्या H3N2 वायरस है इसकी वजह

कोरोना के मामलों में अचानक बढ़ोतरी के साथ-साथ H3N2 इन्फ्लुएंजा वायरस के मामले भी बढ़े हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने पिछले सोमवार को देश के बड़े हॉस्पिटल के टॉप हेल्थ एक्सपर्ट्स के साथ H3N2 इन्फ्लूएंजा के बढ़ते मामलों पर चर्चा करने के लिए एक बैठक की। इसमें इन्फ्लूएंजा के बढ़ते मामलों पर चर्चा की गई। पूरी खबर पढ़ें…

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link