राहुल गांधी के साथ नजर आए, आज जम्मू कश्मीर के राज्यपाल से भी मुख्यमंत्री की मुलाकात प्रस्तावित | Himachal Chief Minister Sukhwinder Singh Sukhu Participated in Rahul Gandhi Bharat Jodo Yatra in Jammu and Kashmir

[ad_1]

शिमलाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

हिमाचल के CM सुखविंदर सिंह सुक्खू आज जम्मू कश्मीर में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए। यात्रा में भाग लेने के लिए मुख्यमंत्री कल ही जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना हो गए थे। वहीं बता दें कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का 30 जनवरी को श्रीनगर में समापन हो रहा है।

राहुल गांधी की ओर से कन्याकुमारी से शुरू की गई यात्रा का श्रीनगर में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के साथ समापन होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह यात्रा देश को जोड़ने और नफरत को मिटाने के उद्देश्य से शुरू की है। कांग्रेस की विचारधारा देश को जोड़ती है और भारत जोड़ो यात्रा उसी कड़ी का हिस्सा है।

जम्मू कश्मीर में राहुल गांधी के साथ हिमाचल CM सुक्खू

जम्मू कश्मीर में राहुल गांधी के साथ हिमाचल CM सुक्खू

मुख्यमंत्री अपनी जम्मू कश्मीर की यात्रा के दौरान वहां के राज्यपाल (लेफ्टिनेंट गवर्नर) से भी मुलाकात करेंगे। राज्यपाल से मिलकर वह हिमाचल प्रदेश के हिस्से की विवादित जमीन का मामला उठाएंगे।

जम्मू कश्मीर की सीमा के साथ हिमाचल प्रदेश के हिस्से की करीब 17 हजार बीघा जमीन लगती है, जिसका मुख्यमंत्री जल्द स्थायी समाधान खोजना चाह रहे हैं। जम्मू कश्मीर जाने से पहले मुख्यमंत्री ने कहा कि वह जम्मू कश्मीर के गवर्नर से मिलकर सीमा विवाद के मसले को सुलझाने की बात करेंगे।

जम्मू कश्मीर में भारत जोड़ो यात्रा अपने अंतिम सफर पर।

जम्मू कश्मीर में भारत जोड़ो यात्रा अपने अंतिम सफर पर।

क्या है जमीन का विवाद
बता दें कि विवाद हिमाचल प्रदेश के सरचू की सीमा के भीतर कुछ व्यापारियों के अतिक्रमण से जुड़ा है। यह व्यापारी सरचू इलाके में पर्यटन के सीजन में बिजनेस के लिए दुकानें लगाते हैं। उस दौरान बड़ी संख्या में देश-विदेश के पर्यटक और ट्रैकिंग पर जाने वाले लोग मनाली-रोहतांग दर्रे और केलोंग से होकर गुजरते हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, मई-जून में बर्फ़ के हटने के बाद लेह के व्यापारी यहां टेंट और दुकानें लगा देते हैं। इसकी वजह से यहां संघर्ष की स्थिति पैदा हो जाती है, क्योंकि प्रदेश के व्यापारी पर्यटन के सीजन में यहां व्यापार नहीं कर पाते।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link